Husband Wife Best Sad Romantic Love Story In Hindi, Dil Ko chu Lene Wali Pyar Ki Kahani | Post Links
sad

Husband Wife Best Sad Romantic Love Story In Hindi, Dil Ko chu Lene Wali Pyar Ki Kahani

August 14, 2017

इंसान कितना अजीब होता है जब लोग पास होते है तो उनकी कदर नहीं करते है, और जब दूर चले जाते है तो उनकी अहमियत याद आती है मेरी कहानी भी कुछ ऐसी ही है मेरी शादी के दो साल हो गए थे, लेकिन अक्सर छोटी-छोटी बातो पे मैं अपनी बीवी से झगड़ा कर लिया करता था नहीं चाहते हुए भी हम दोनों का झगड़ा हो जाता था इसलिए मेरे पापा मम्मी ने हम दोनों को अलग फ्लैट में शिफ्ट करवा दिया, सोचा जब दोनों अकेले रहेंगे तो शायद प्यार से रहना सिख लेंगे लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ मेरा गुस्सा बढ़ता गया, और हमारे रिश्ते कमजोर से होने लगे, मैं ऑफिस में रहता और घर पे नीलम अकेली उदास रहती थी क्यूंकि मेरा वयहवार ख़राब हो गया था उसके प्रति आज कल वो काफी बीमार रहने लगी थी सर दर्द से परेशान रहने लगी थी उसका चेकउप करवाया तो मालूम चला उसको ट्यूमर है, मेरा दिल बैठ सा गया, ये सब मेरी ही गलती है, मैं अपने आप को मन ही मन कोशने लगा।
नीलम : क्या हुआ आजकल बहुत परेशान रहते हो, मेरी बीमारी की चिंता नहीं करो सब ठीक हो जायेगा. (उदास मन से)।
अजय : नहीं ऐसी बात नहीं है बस सब कुछ रुक सा गया है सब मेरी गलती है मेरे कारन तमहरा ये हाल हुआ नाही मैं तुम्हे टेंशन देता और नाही तुम बीमार पड़ती।
नीलम : तुम क्यों ऐसा सोच रहे हो पागल जैसी बात नही करो वरना मैं अभी जान दे दूंगी, इतना कहके रोने लगती है।
अजय : नीलम को गले लगते हुए मुझे सच में माफ़ कर दो I LOVE YOU… मैं तुम्हरे बिना नही रह सकता हु. मैं कुछ भी करूँगा लेकिन तुम्हे बचा लूंगा।
नीलम : ये अब सायद पॉसिबल नही है, क्यूंकि बीमारों बहुत बढ़ गई है और इलाज में बहुत खर्चा होगा इसलिए तुम्हे मेरी कसम अब मैं जितने दिन भी हु बस तुम मेरे साथ रहो अच्छे से रहो.
इतना बोलते ही हम दोनों रोने लगते है।
धीरे धीरे वक़्त गुजरता गया और वो कमजोर होती गई, हम दोनों एक दूसरे को देख के रो देते थे मैं फिर से अपने आप को मजबूत किया और नीलम के लाख मन करने के वाबजूद उसको लेके हॉस्पिटल गया।
अजय : तुम ठीक हो जाओगी, मेरी आँखों में देखो।
नीलम मेरी बात सुनो : रोते हुए…………. पागल मैं कहीं नहीं जा रही, तुम्ही ने तो कहा था धड़कति हूँ मैं तुममे।
मेरी तरफ देखो
हवाई जहाज पर ज्यादा दूर मत जाना । जिंदगी जी है मैंने तुम्हारे साथ और फ़िल्मी स्टाइल में पागल मत हो जाना ।
सिंदूर लगाया था ना एक दिन तुमने मुझे
आज फिर लगाओगे क्या ?
अजय : मैं नही कर पाउँगा…………………रोते हुए।
नीलम : भगवान् को मानना छोड़ मत देना । वो ही तो है जो मुझे वहाँ भी खुश रखेगा, मंदिर पहले भी नहीं जाते थे, लेकिन अपने जन्मदिन पर मंदिर जरूर जाना ।
और मेरी सौतन तो नही लाओगे न ।
अजय : पागल ऐसा हो सकता है क्या सिर्फ तुम और कोई नही अगर तुम नही तो मैं भी नही।
नीलम : प्लीज ऐसा नही बोलो मुझे बहुत दर्द होता है, मैंने जितने दिन तुम्हरे साथ गुजरे वो मेरे लिए सबसे हसीं पल थे ज़िंदगी बहुत लम्बी है किसी का साथ ले लेना, वो तुम्हरा ख्याल रखेगी और मैं तो हु ही तुमसे मिलने आती रहूंगी, मेरा saya हमेशा तुम्हरे साथ रहेगा, अपनी जिंदगी तुम्हे देके जा रही हु ख्याल रखना अपना।
और आखिर वो पल ाही गया जो कभी नही आना चाहिए मैं उसको देखते हुए घंटो निशबद उसका हाँथ पकडे ऐसे ही बैठा रहा ।
मौत भी कितनी आसान होती है
मेरी दुनिया लेके चली गयी ।
माँ मेरी बगल में खड़ी होक सिसक रही थी।
नीलम के जाने का गम हम सबको था, मेरी दुनिया खत्म हो गई सब कुछ खत्म हो गया अब सिर्फ नीलम की याद है उसी के सहारे रहता हूँ।
दोस्तों ये जीवन बहुत ही अजीब है इसलिए जब कोई आपके पास है तो उसकी कदर करो ऐसा न हो की बाद वो न मिले और सिर्फ उसको याद ही करते रहे।

sad, romantic, jasusi, सस्पेंस और थ्रिलर कहानियाँ, true, sachi kahani in hindi

Article Categories:
Love Story

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »
error: Content is protected !!